भारत ने स्वयं को एवियन इन्फ्लू एंजा(एच5एन1) से मुक्त घोषित किया

Bookmark and Share

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन विभाग ने भारत को एवियन इन्फ्लूएंजा (एच5एन1) से मुक्त घोषित कर दिया।

  • भारत ने 09.05.2016 को कर्नाटक के बीदर जिले के हमनाबाद में एवियन इन्फ्लूएंजा (एच5एन1) फैलने की सूचना दी थी। उसके बाद से देश में इसके कहीं और फैलने के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली।
  • केन्‍द्र ने  संक्रमित देशों की सीमा से सटे इलाकों तथा प्रवासी पक्षियों की आवाजाही वाल इलाकों में निगरानी जारी रखने की आवश्‍यकता पर बल दिया है।

H5N1  क्या है?

  • H5N1 इन्फ्लूएंजा वायरस का एक प्रकार है जो पक्षियों में एक अत्यंत संक्रामक, गंभीर श्वसन रोग का कारण बनता है, जिसे एवियन इन्फ्लूएंजा (या “बर्ड फ्लू”) कहा जाता है | H5N1 एवियन इन्फ्लूएंजा ,मानवीय मामलों में कभी-कभी होते हैं, और इसके एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमण संचारित करने की संभावना नगण्य है |

H5N1 इन्फ्लूएंजा लोगों में कैसे फैल गया है?

  •  लोगों में H5N1 संक्रमण के सभी मामलों को संक्रमित जीवित या मृत पक्षियों, या H5N1 दूषित वातावरण के साथ निकट संपर्क के साथ संबद्ध किया गया है। वायरस आसानी से मनुष्यों को संक्रमित नहीं करता है, और इसके एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल संक्रमण संचारित करना असामान्य प्रतीत होता है। ठीक तरह से तैयार व पके हुए भोजन से H5N1 के फैलने का कोई साक्ष्य नही है |

1 Trackback / Pingback

  1. Test – India Labs

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*