समसामयिकी नवम्बर : CURRENT AFFAIRS NOVEMBER : 16-23

Bookmark and Share

मंत्रिमंडल ने उच्चतम न्याायालय के निर्णय के अनुपालन में स्थिति-सह-प्रगति रिर्पोट को मंजूरी दी और ‘नदियों को जोड़ने के लिए एक विशेष समिति का गठन किया’

  • प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने नदियों को जोड़ने के मामले में उच्चलतम न्यायलय के निर्णय के अनुपालन में स्थिति-सह-प्रगति रिर्पोट और ‘नदियों को जोड़ने के लिए एक विशेष समिति के गठन को मंजूरी दी’ है।
  • केंद्रीय मंत्रिमंडल की मंजूरी से भारत सरकार की राष्ट्रीयय भावी योजना 1980 के अंर्तगत नदी जोड़ने की परियोजनाओं की निगरानी में मदद मिलेगी।
  • नदियों को जोड़ने के लिए विशेष समिति की स्थिति-सह-प्रगति रिर्पोट को द्विवार्षिक रूप से मंत्रिमंडल को सूचनार्थ प्रस्तुत की जाएगी जिससे यथासंभव तीव्र गति से देश के हित में शीघ्र और उचित निर्णय लेने में मदद मिलेगी।
  • ‘हुनर हाट’

  • भारत अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में ‘हुनर हाट’ का उद्घाटन किया गया। यह हाट राजधानी के प्रगति मैदान में आयोजित भारत अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में पहली बार अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इस ‘हुनर हाट’ में देश के कोने-कोने से पारंपरिक कला और कौशल का प्रदर्शन करने के लिए 184 शिल्पकार 100 मंडपों में भाग ले रहे हैं।
  • ‘हुनर हाट’ का उद्देश्य अल्पासंख्यरक समुदाय के शिल्पकारों को उनके उत्पादों की प्रदर्शनी को समर्थन देना तथा घरेलू व अंतर्राष्ट्रीय बाजार उपलब्ध कराना है। इस प्रदर्शनी ने देश भर के अल्पकसंख्यक समुदाय के शिल्पवकारों को घरेलू एवं अंतर्राष्ट्रीय दर्शकों के समक्ष अपना कौशल तथा कला का प्रदर्शन करने का अद्भुत प्ले‍टफॉर्म उपलब्ध कराया।
  • ‘हुनर हाट’ में देश के 26 राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के बेहतरी शिल्परकार हिस्सा ले रहे हैं।
  • ‘हुनर हाट’ की विशेषता बताते हुए कहा कि इसमें भाग लेने वाले शिल्परकारों के लिए नि:शुल्‍क मंडप की व्यावस्था की गई है तथा मंत्रालय ने इन शिल्पककारों के आने-जाने तथा सामान ढुलाई तथा दैनिक खर्चे का भी वहन किया है। इससे देश के गरीब लेकिन कला एवं हुनर में सम्पन्न शिल्पकारों को अंतर्राष्ट्रीेय प्लेाटफॉर्म पर अपनी कला एवं कौशल को प्रदर्शित करने में मदद मिली है।
  • इस प्रदर्शनी में पूर्वोत्तपर राज्यों से केन एवं बांस की कृति, उत्तर प्रदेश से वस्त्र एवं कशीदाकारी, पीतल की कलाकृति, कपड़ों पर जरदोई का काम, दक्षिणी राज्यों से चंदन की लकड़ी एवं अन्यर लकड़ियों की कलाकृतियां, बिहार-झारखंड से हस्त्शिल्पी, पश्चिदम बंगाल-ओडिशा से एलुवेरा, नीम और तुलसी इत्यादि से बने उत्पाद शामिल हैं। इसके अलावा राजस्थाडन, गुजरात, जम्मूद एवं कश्मी-र के भी शिल्पाकार हिस्साी ले रहे हैं।
  • खादी इकाईयों का आधुनिकीकरण

    सूक्ष्म, लघु और मझौले उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय के माध्यम से, खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) द्वारा खादी इकाइयों के आधुनिकीकरण के लिए निम्नलिखित केन्द्रीय योजनाओं को लागू किया गया है:

    1. कमजोर खादी संस्थानों को अपने संसाधन बढ़ाने के लिए तथा उनको फिर से सुचारू रूप से कार्यान्वित करने हेतु, केवीआईसी आउटलेट का पुनरूत्थान करने, राज्य खादी और ग्रामोद्योग बोर्ड को मजबूत करने एवं बिक्री केन्द्रों की संख्या बढ़ाने हेतु सहायता देने का प्रावधान किया गया है।
    2. पारंपरिक उद्योग के उत्थान के लिए कोष (स्फूर्ति) की योजना के माध्यम से खादी समूहों को और अधिक उत्पादक और प्रतिस्पर्धी बनाने हेतु एवं उनके सतत विकास के लिए सहयोग दिया गया है।
    3. केवीआईसी ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी कार्यक्रम के तहत शोध कार्य का संचालन करने के लिए अग्रणी तकनीकी संस्थानों के साथ इंटरफेस के गठन का फैसला किया है।

    छात्र स्टार्टअप नीति

    राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रीय छात्र स्टार्टअप नीति की शुरुआत की।
    मुख्य बिंदु

  • एआईसीटीई द्वारा निर्मित राष्ट्रीय छात्र स्टार्टअप नीति का लक्ष्य 100,000 तकनीकी आधारित छात्र स्टार्टअप की शुरुआत करना तथा उसके जरिए अगले 10 साल में 10 लाख रोजगार के अवसर पैदा करना है।
  • इस नीति के तहत तकनीकी संस्थाओं के बीच मजबूत आपसी सहयोग के जरिए लक्ष्य को हासिल करने की योजना है।
  • भारतीय युवा को 21वीं सदी और उसके बाद स्टार्टअप नीति के लिए बेहतर तकनीकी सुविधा उपलब्ध कराना है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में “सभी के लिए आवास”

    माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा प्रधान मंत्री आवास योजना – ग्रामीण का शुभारंभ आगरा से किया गया। जिसके अन्तधर्गत सभी ग्रामीण परिवारों को वर्ष 2022 तक पर्यावरणीय रूप से सुरक्षित व पक्की घर उपलब्ध कराने का प्रावधान है। नवीन योजना में तालमेल के माध्यम से लाभार्थी को प्रति इकाई लगभग 1.50-1.60 लाख रु. उपलब्ध होंगे। लाभार्थी की इच्छा पर रु. 70,000 की राशि के ऋण का भी प्रावधान है। प्रधान मंत्री जी द्वारा आगरा जिले के लाभान्वि‍तों को प्रधान मंत्री आवास योजना – ग्रामीण के अंतर्गत स्वीकृति पत्र भी दिए गए।
    मुख्य बिंदु

  • मार्च, 2019 तक एक करोड़ घर निर्मित किए जाएंगे।
  • लाभान्वितों का चयन सामाजिक-आर्थिक जनगणना, 2011 के आधार पर तथा ग्राम सभा के अनुमोदन से किया गया है। भवनहीन तथा एक या दो कमरे के कच्ची छत कच्ची दीवार के मकान में रहने वाले गरीब परिवारों को इस कार्यक्रम में शामिल किया गया है।
  • स्थानीय निर्माण सामग्री के अधिकतम उपयोग के साथ रसोई, बिजली कनेक्शसन, एलपीजी, स्नानघर व शौचालय के प्रावधानों से युक्त कर आवास को एक पूर्ण रूप दिया गया है।
  • लाभान्वितों को भुगतान पूरी तरह आईटी/डीबीटी के माध्यकम से किया जाएगा तथा आईसीटी व स्पेस टेक्नॉहलोजी (अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी) के उपयोग से कार्य की प्रगति का अनुश्रवण आवास सॉफ्ट एमआईएस पर किया जाएगा।
  • गंगा नदी पर पुल निर्माण

    एशियाई विकास बैंक (एडीबी) और भारत सरकार ने गंगा नदी पर एक 9.8 किमी लंबी सड़क पुल का निर्माण करने के लिए $ 500 मिलियन ऋण पर हस्ताक्षर किए हैं।
    मुख्य तथ्य

  • इस पुल निर्माण का उद्देश्य उत्तर तथा दक्षिण बिहार के बीच परिवहन संपर्क में सुधार करना है तथा राज्य की राजधानी, पटना, और आसपास के क्षेत्रों के बीच एक बेहतर कड़ी के रूप में कार्य करना है |
  • यह भारत की सबसे लंबी नदी पुल होगा और 9 लाख से अधिक लोगों को इससे लाभ की उम्मीद है।
  • राघोपुर दियारा नदी द्वीप के निवासियों के लिए वरदान साबित होगा जो सालों से सड़क यातायात संपर्क से वंचित है |
  • यह पुल अत्याधुनिक इंजीनियरिंग तकनीकों का उपयोग करते हुए बनाया जा रहा है |इस पुल की लंबाई और ऊंचाई को इस तरह से तैयार किया गया है कि नदी के बहाव पर इसका कोई प्रभाव नही पड़े |
  • पुल के संचालन और प्रबंधन में सुधार के लिए तकनीकी सहायता के रूप में राज्य सरकार $215 मिलियन के बराबर सहायता प्रदान करेगी |
  • यह परियोजना दिसंबर 2020 के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है।
  • ब्रूसिलोसिस पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन

  • ब्रूसिलोसिस पर अंतरराष्ट्रीय अनुसंधान सम्मेलन का उद्घाटन हाल ही में नई दिल्ली में किया गया।
  • इस मौके पर, केंद्र ने 10 राज्यों के 50 गांवों में “ब्रूसिला मुक्त गांवों” के कार्यक्रम का कार्यान्वयन पायलट पैमाने पर शुरू किया।
  • इस कार्यक्रम के दिशा निर्देशों का समर्थन मानव संचालन प्रथाओं तथा एक आईटी सक्षम आवेदन के द्वारा किया जाएगा |
  • मुख्य तथ्य

  • ब्रूसिलोसिस पर तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के सहयोग से जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा आयोजित किया गया है ।
  • यह सम्मलेन ब्रूसिलोसिस पर डीबीटी नेटवर्क कार्यक्रम जो 2012 में शुरू हुआ था के अनुसन्धान में हुआ ताकि इस महामारी से निपटा जाए और टीकों के निदान किट की नई पीढ़ी के विकास के लिए समाधान करने के लिए प्रयास किया जा सके ।
  • यह सम्मेलन दुनिया भर से वैज्ञानिक और विशेषज्ञों के लिए एक तकनीकी मंच प्रदान करता है।
  • 26 देशों के प्रतिभागियों जिसमे अमेरिका, बेल्जियम, जर्मनी, नाइजीरिया, अर्जेंटीना, स्पेन और तुर्की शामिल हैं।
  • ब्रूसिलोसिस क्या है ?
    ब्रूसिलोसिस एक भयानक बिमारी है जो जीवाणुओं की जीनस के कारण होती है और इसे ब्रूसिला के नाम से जाना है |ब्रूसिला गाय, भैंस, भेड़, बकरी, हिरण, सूअर, कुत्तों और अन्य जानवरों के साथ ही मनुष्य की विभिन्न प्रजातियों को संक्रमित करती हैं।यह बिमारी 28000 करोड़ रुपए की आर्थिक हानि का कारण बनता हैं |ब्रूसिलोसिस भारत में स्थानिक है।
    रोग के प्रसार:

  • मानव, ऐसे जानवरों या पशु उत्पाद जैसे मांस या दूध जो इन जीवाणुओं से दूषित हैं के संपर्क में आने से संक्रमित हो जाते हैं |
  • पशु चिकित्सकों, कसाई और अन्य पशु संचालकों को ब्रूसीलोसिस संक्रमण के होने की उच्च संभावना हैं |
  • लक्षण:
    मनुष्यों में ब्रूसीलोसिस के लक्षण फ्लू के समान ही हैं जिसमे बुखार, पसीना, सिर दर्द, पीठ दर्द और शारीरिक कमजोरी शामिल हो सकती है।इससे केंद्रीय तंत्रिका तंत्र या दिल की परत को गंभीर संक्रमण भी हो सकती है।

    सीआरपीएफ द्वारा महिला कमांडो:

  • पहली बार, सीआरपीएफ के द्वारा झारखंड में नक्सल विरोधी अभियानों में महिला कमांडो की एक टीम तैनात किया गया है।
  • 232 बटालियन के डेल्टा कंपनी से संबंधित 135 महिला कमांडों वर्तमान में रांची के निकट खूँटी क्षेत्र के बाहरी इलाके में नक्सल प्रभावित जंगलों में सीआरपीएफ की 133 बटालियन के देखरेख में संचालन करने जा रहे हैं।
  • सतलुज यमुना लिंक नहर पर नया बिल पास —

    सतलुज यमुना लिंक नहर पर पंजाब , हरियाणा , राजस्थान के बीच विवाद बढ़ता जा रहा हैं ,जिसके परिणामस्वरूप पंजाब विधानसभा ने हरियाणा और राजस्थान को पानी नही देने ,पानी का बिल वसूलने और नहर निर्माण कार्य रोकने का प्रस्ताव पारित किया हैं |
    पृष्ठभूमि
    इससे पूर्व राज्यपाल वी पी सिंह बदनौर इन प्रस्तावों को मंजूरी देने से मन कर चुके थे |इसके बाद बादल सरकार ने पंजाब विधान सभा में यह प्रस्ताव पेश कर पास करवाए | पंजाब सरकार ने कहा है कि राजस्थान , हरियाणा और दिल्ली को अब तक दिए पानी का हिसाब देना होगा |

    अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस – 16 नवम्बर

    संयुक्त राष्ट्र के द्वारा हर वर्ष 16 नवम्बर को अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस मनाया जाता है |
    उद्देश्य

  • अंतरराष्ट्रीय सहिष्णुता दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य सौहाद्रपूर्ण अस्तित्व बनाए रखने और विश्व में शांति और सामंजस्य कायम करने के लिए लोगों को सहनशील बनने कि आवश्यकता के विषय में जागरूक बनाना है |
  • इस दिन दुनिया भर में अन्याय ,पक्षपातपूर्ण ,भेदभाव और अत्याचार तथा समाज पर उनके दुष्प्रभाव पर वाढ -विवाद तथा चर्चाएं आयोजित की जाती है |
  • हाथों में हाथ

    भारत और चीन के मध्य आयोजित किया जाने वाला छठां संयुक्त प्रशिक्षण अभ्यास हाथों में हाथ को पुणे में आयोजित किया गया |
    उद्देश्य
    भारतीय सेना एवं चीन की सेना को आतंकवाद एवं आपात की स्थिति से निपटने के लिए तैयार करना है |इससे भारत और चीन के मध्य सैन्य सम्बन्ध सुधरेंगे | तथा आतंकवाद से मिलकर लड़ने की तैयारी भी हो सकेगी |
    पृष्ठभूमि

  • हाथों में हाथ संयुक्त अभ्यास दोनों देशों के मध्य किए जाने वाले प्रशिक्षण अभ्यास की श्रृंखला का भाग है |
  • इस श्रृंखला का पहला अभ्यास 2007 में चीन के युन्नान में आयोजित किया गया था |
  • सबसे तेज सुपर कंप्यूटर

  • चीन ने अपने सुपर कंप्यूटर सनवे ताएहुलाइट के जरिए लगातार आठवीं बार विश्व के सबसे तेज़ सुपर कंप्यूटर की सूची में शीर्ष स्थान पर रहा |
  • यह सुपर कंप्यूटर 1 सेकंड में 9.3 करोड़ अरब गणनाएं कर सकता है |
  • इसका निर्माण पूरी तरह से चीन में बने प्रोसेसरों की मदद से किया गया हैं|
  • शहरी विकास मंत्रालय ने अम्रुत(AMRUIT) के तहत लंबी अवधि के निवेश की योजना का अनुमोदन शुरू किया है

  • शहरी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के समय पर क्रियान्वयन को सुनिश्चित करने और 2019 2020 तक मिशन के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए शहरी विकास मंत्रालय ने अम्रुत के तहत जल आपूर्ति , सीवरेज नेटवर्क आदि में निवेश का अगले तीन वर्षों तक अनुमोदन शुरू कर दिया है |
  • इस सम्बन्ध में अम्रुत की एक अंतर मंत्रालयी एपेक्स समिति ने हल ही में गुजरात ,राजस्थान , पंजाब ,बिहार व त्रिपुरा में 17-20 के दौरान 5815 करोड़ रुपए निवेश की मंजूरी दे दी है |
  • भारत और साइप्रस के बीच संसोधित DTAA समझौते पर हस्ताक्षर

  • भारत और साइप्रस ने अपनी संसोधित द्विपक्षीय कर संधि पर हस्ताक्षर किया |
  • इस हस्ताक्षर के उपरांत साइप्रस की तरफ से 1 अप्रैल 2017 के बाद भारत में किए गए निवेश एवं शेयर की बिक्री पर पूंजी लाभ कर (capital gain tax ) लगेगा |
  • इस नए समझौते पर साइन होने के उपरांत दोनों देश बैंकिंग की जानकारी भी साझा करेंगे ताकि जानकारी का इस्तेमाल करने के अलावा अन्य कार्यों के लिए भी किया जा सके | लेकिन इसके लिए दोनों देशों को एक दूसरे से अनुमति लेना अनिवार्य होगा |
  • भारत और ब्रिटेन के मध्य तीन द्विपक्षीय अग्रिम मूल्य निर्धारण समझौते पर हस्ताक्षर

  • केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड CBDT ने कर मुकदमेबाजी काम करने के लिए यूनाइटेड किंगडम के सक्षम प्राधिकरण के साथ तीन द्विपक्षीय अग्रिम मूल्य निर्धारण समझौतों पर हस्ताक्षर किए |
  • इससे पहले दोनों देशों ने म्यूच्यूअल एग्रीमेंट प्रोसीजर अनुच्छेद के तहत दोहरे कराधान से बचाव कन्वेशन (DTAC) के सम्बन्ध में आपसी समझौतों पर विमर्श किया था |
  • नासा ने अगली पीढ़ी का मौसम उपग्रह GOES – R प्रक्षेपित किया

  • अमेरिका ने अगली पीढ़ी के एक मौसम उपग्रह को फ्लोरिडा के केप केनेवरल वायुसेना अड्डे से छोड़ा |
  • नासा ने कहा है कि इससे मौसम का सही अनुमान लगाने , निगरानी और तूफान की चेतावनी में मदद मिलेगी |
  • नासा ने कहा की अमेरिकी राष्ट्रीय समुद्री एवं वायुमंडलीय प्रशासन (NOAA) की जियोस्टेशनरी आपरेशन एनवायर्नमेंटल सेटेलाइट -आर (GOES – R ) अगले दो सप्ताह में अपने
  • अंतरिक्ष कक्षा में पहुच जाएगा | इसका नाम GOES – 16 होगा |
  • यह नासा और नोआ के एक दशक लंबी साझेदारी से हुआ ,जिसमे भूस्थिर पर्यावरण उपग्रह का सफलतापूर्वक निर्माण और उसका प्रक्षेपण किया गया | यह नया उपग्रह जाँच और उसके छह नए उपकरणों की पुष्टि के बाद एक साल के अंदर कार्य करना शुरू कर देगा | इसमें भूस्थैतिक कक्षा में प्रथम बिजली मैपर का परिचालन भी शामिल है |
  • चीन ने दुनिया की सबसे लंबी सुपर सुरक्षित क्वांटम संचार लाइन की शुरुआत की —

  • चीन ने 712 km क्वांटम लाइन की शुरुआत की है | इससे दुनिया के सबसे लंबे समय तक सुरक्षित दूरसंचार नेटवर्क बताया गया हैं|
  • क्वांटम संचार लाइन अति उच्च सुरक्षा को बढ़ावा देगी |
  • इसके माध्यम से प्रेसित सूचना को रोकना , बाधित करना और चुरा पाना असंभव है|
  • यह बीजिंग से संघाई के बीच 2000 km लंबी क़्वांटम संचार लाइन का भाग है | इसे 712 km लंबी लाइन में 11 स्टेशन है |
  • इसके निर्माण में तीन वर्ष का समय लगा है |
  • भारत ने पृथ्वी दो मिसाइल का दोहरा सफल प्रक्षेपण किया

    ओडिशा में बालासोर जिले के चांदीपुर समेकित परीक्षण रेंज से पृथ्वी -2 मिसाइल का सफल परिक्षण किया गया |
    मुख्य तथ्य

  • यह पहली मिसाइल है जिसे DRDO ने ‘इंटीग्रेटेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम ‘ के तहत तैयार किया गया है |
  • यह मिसाइल 500 -1000 kg तक का भार उठाने में सक्षम है |
  • इस मिसाइल की मारक क्षमता 350 km प्रति घंटे है और इसमें लिक्विड प्रोपल्शन द्विन इंजन लगे है |
  • यह मिसाइल परंपरागत व परमाणु दोनों तरह के हथियार ले जाने में सक्षम है |
  • आईएनएस चेन्नई भारतीय नेवी में शामिल


    21 नवम्बर 2016 को देश के सबसे बड़े डेस्ट्रॉयर आईएनएस चेन्नई को इंडियन नेवी में कमीशंड कर दिया गया | यह कोलकाता क्लास का गाइडेड मिसाइल डेस्ट्रॉयर है और यह भारत में निर्मित सबसे बड़ा डेस्ट्रॉयर है |
    मुख्य बिंदु

  • मुम्बई में एक कार्यक्रम में इसे इंडियन नेवी में शामिल किया गया |आईएनएस चेन्नई को मझगांव डाकयार्ड में निर्मित किया गया है |
  • आईएनएस चेन्नई वेस्टर्न नेवल कमांड के कमांड – इन – चीफ फ्लैग ऑफिसर के प्रशासनिक निमंत्रण में रहेगा और यहीं से संचालित होगा |
  • आईएनएस चेन्नई की लंबाई 164 m है और यह 750 टन का वजन उठा सकता है |
  • इसमें हुल माउंटेड सोनार हुम्सा एनर्जी , भरी टॉरपीडो ट्यूब लॉन्चर्स ,राकेट लॉन्चर्स है |
  • दुश्मन की मिसाइल से रक्षा के लिए इसे कवच सिस्टम से लैस किया गया है |
  • रुस्तम – 2 उड़ान का सफल परीक्षण

    भारत ने अपने स्वदेशी ड्रोन विमान रुस्तम – 2 का सफल परीक्षण कर लिए है |यह डीआरडीओ के द्वारा बनाया गया एक मानवरहित विमान हैं|बेंगुलुरु से 250 km दूर स्थित चित्रदुर्ग में एरोनॉटिकल टेस्ट रेंज में इस विमान ने सफल उड़ान भरी |
    विशेषताएं

  • यह विमान कम ऊंचाई पर उड़ते हुए दुश्मनों को निशाना बना सकती हैं |
  • इस विमान के पंख 20 m के हैं और अन्य विमान के विपरीत इसे उड़ान भरने के लिए केवल हवाई पट्टी की ज़रुरत होगी |
  • यह एक बार में 24 – 30 घंटे तक लगातार उड़ान भर सकता हैं |
  • रुस्तम 500 km / h के रफ़्तार से उड़ सकता हैं और दुश्मन के नज़र में भी नही आता |
  • डीआरडीओ के द्वारा देश में ही विकसित चार सोनार प्रणाली को नौसेना में शामिल किया गया

  • नौसेना में देश में ही विकसित चार प्रकार के सोनार प्रणाली को शामिल कर लिए गया हैं ,जो पानी के नीचे निगरानी क्षमता को बढ़ावा देगा |
  • इस सिस्टम का विकास डीआरडीओ के कोच्ची में स्थित प्रयोगशाला में NPOL के द्वारा किया गया हैं |
  • इन चार प्रणालियों के शामिल होने के बाद भारतीय नौसेना के पानी के नीचे निगरानी क्षमता में बढ़ावा मिल जाएगा |
  • चार नए प्रणाली हैं —
    अभय –
    इसका इस्तेमाल उहले पानी में निगरानी के लिए किया जाएगा |
    अभय में टारगेट को पहचानने के लिए एडवांस सिग्नल और इनफार्मेशन प्रोसेसिंग सिस्टम हैं |
    हमसा यूजी
    हमसा -यूजी मौजूदा Humsa सोनार प्रणाली के उन्नयन के लिए बनाया गया है। इस प्रणाली के जहाजों के तीन अलग-अलग वर्गों में से सात जहाजों पर स्थापित किया जाना प्रस्तावित है|
    NACS- नियर फील्ड अकॉउस्टिक कैरेक्टेराइजेसन सिस्टम
    AIDSS- एडवांस डिस्ट्रेस सोनार सिस्टम फॉर सबमरीन

    रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI ) ने इस्लामिक विंडो खोलने का प्रस्ताव रखा |

    रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI ) ने इस्लामिक विंडो खोलने का प्रस्ताव रखा है ताकि देश में धीरे धीरे शरीया के अनुकूल या ब्याज मुक्त बैंकिंग लागु की जा सके |इसका मकसद समाज के उन तबको को वित्तीय समावेशन सुनिश्चित करना है जो धार्मिक कारणों से अब तक वित्तीय प्रणाली से बहार है |
    इस्लामिक बैंकिंग क्या है ?
    इस्लामिक बैंकिंग एक वित्तीय प्रणाली है जोकि ब्याज की कमाई नहीं लेने के सिद्धान्त पर आधारित है |

    भारत सर्न CERN जेनेवा का सहायक सदस्य बना

    भारत दुनिया के सबसे बड़े परमाणु और कण भौतिकी प्रयोगशाला ,यूरोपीय परमाणु अनुसन्धान संगठन (European organisation for nuclear research – CERN ) का सदस्य बना |
    CERN के डायरेक्टर जनरल ने कहा कि भारत कि सदस्यता भारतीय उद्योगों को CERN परियोजनाओं में प्रत्यक्ष रूप से भागीदारी के लिए अवसर प्रदान करेगा | एक सदस्य राष्ट्र के रूप में भारत CERN में वार्षिक रूप से 77 करोड़ का योगदान करेगी |

    सदस्य बनने के लाभ
    यह एसोसिएट सदस्यता अब भारत के CERN परिषद् की बैठकों में शामिल होने के ज़रिए CERN के प्रशासन में भाग लेने की अनुमति देगा |यह भारत के वैज्ञानिकों को CERN स्टाफ का सदस्य बनने और CERN के प्रशिक्षण और करियर विकास कार्यक्रमों में हिस्सा बनने की अनुमति देगा |
    यह भारतीय उद्योगों को CERN अनुबंधों के लिए बोली लगाने की अनुमति देगा और उन्नत प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में औद्योगिक सहयोग के लिए अवसरों का द्वार खोलेगा |
    CERN के बारे में
    CERN कण भौतिकी की विश्व की सबसे बड़ी प्रयोगशाला है | इस संस्था के 22 सदस्य देश है |इसका प्रमुख उद्देश्य उच्च ऊर्जा भौतिकी से सम्बंधित अनुसन्धान करने के लिए विभिन्न प्रकार के कण त्वरकों का विकास करना है | इसकी स्थापना 1954 में हुई थी और इसका मुख्यालय जेनेवा में है |

    Be the first to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.


    *