PRACTICE SET 1

Bookmark and Share
PRACTICE SET 1
1. 1935 के अधिनियम के तहत कांग्रेस ने प्रांतों में अपने मंत्रिमंडल गठित किए. कांग्रेस की गतिविधियों के दिशा निर्देश और इनमें आपस में तालमेल कायम रखने के लिए एक “कांग्रेस नियंत्रण परिषद” गठित की गई. निम्नलिखित में से कौन इस कांग्रेस नियंत्रण परिषद के सदस्य नहीं थे-

a. सरदार पटेल
b. मौलाना अबुल कलाम आजाद
c. जवाहर लाल नेहरू
d. राजेंद्र प्रसाद

Ans – c
• 1935 के अधिनियम के तहत कांग्रेस ने प्रांतों में अपने मंत्रिमंडल गठित किए. जुलाई 1937 के दौरान 6 प्रांतों में इसने अपने मंत्रिमंडल गठित किए यह प्राप्त थे- मद्रास, मुंबई, मध्य भारत, उड़ीसा, बिहार और संयुक्त प्रांत. बाद में चलकर पश्चिमोत्तर प्रांत और असम में भी कांग्रेस ने मंत्रिमंडल बनाए.
• इन की गतिविधियों के दिशा निर्देश और इनमें आपस में तालमेल कायम रखने के लिए, साथ ही इस बात को सुनिश्चित करने के लिए कि कांग्रेस का प्रांतीयकरण करने की अंग्रेज की मंशा पूरी ना हो सके, एक केंद्रीय नियंत्रण परिषद गठित की गई. इस परिषद को “संसदीय उपसमिति” के नाम से भी जाना जाता है. इसके सदस्य सरदार पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद और राजेंद्र प्रसाद थे.
• जवाहरलाल नेहरू इस परिषद के सदस्य नहीं थे.

2. “तेभागा आंदोलन” के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए
1. यह एक किसान आंदोलन था, जो बंगाल में हुआ.
2. इस आंदोलन के दौरान किसानों ने भूस्वामियों को उपज का एक तिहाई हिस्सा देने से मना कर दिया.
उपरोक्त कथन में से कौन सा / से सही है/ हैं?
a. केवल 1
b. केवल 2
c. 1 और 2 दोनों
d. न तो 1 न ही 2

Ans – a
कथन 1 सही है – तेभागा आंदोलन एक किसान आंदोलन था जो बंगाल में हुआ.
कथन 2 गलत है – इस आंदोलन के के दौरान किसानों ने यह ऐलान करना शुरू कर दिया कि भू स्वामियों को उपज का आधा हिस्सा नहीं बल्कि एक तिहाई हिस्सा देंगे.

3. निम्नलिखित में से कौन “मद्रास महाजन सभा” से संबंधित थे?
1. एम वीराघवाचारी
2. सुब्रमण्यम अय्यर
3. पी आनंद चार्लू
नीचे दिए गए कूट का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिए
a. केवल 1
b. केवल 2 और 3
c. केवल 1 और 2
d. 1,2 और 3

Ans – d
मई 1984 में एम वीराघवाचारी , सुब्रमण्यम अय्यर और आनंद चार्लू ने मद्रास महाजन सभा का गठन किया. इस सभा का उद्देश्य स्थानीय संगठन के कार्यों को समन्वित करना था.

4. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए
1. एक सामान्य आर्थिक एवं राजनीतिक कार्यक्रम हेतु देशवासियों को एक मत करना.
2. लोगों को जाति, धर्म एवं प्रांतीयता की भावना से उठाकर उनमें एक राष्ट्रव्यापी अनुभव को जागृत करना.
3. आंदोलन को चलाने के लिए एक मुख्यालय की स्थापना करना.
उपरोक्त में से कौन सा / से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रारंभिक उद्देश्य एवं कार्यक्रम थे?
a. केवल 1
b. केवल 1 और 2
c. केवल 2 और 3
d. 1, 2 और 3

Ans – d
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उद्देश्य एवं कार्यक्रम निम्नलिखित थे-
• लोकतांत्रिक राष्ट्रवादी आंदोलन चलाना.
• भारतीयों को राजनीतिक लक्ष्यों से परिचित कराना तथा राजनीतिक शिक्षा देना.
• आंदोलन के लिए मुख्यालय की स्थापना करना.
• देश के विभिन्न भागों में राजनीतिक नेताओं तथा कार्यकर्ताओं के मध्य मैत्रीपूर्ण संबंधों की स्थापना को प्रोत्साहित करना.
• उपनिवेशवाद विरोधी विचारधारा को प्रोत्साहन एवं समर्थन देना.
• एक सामान्य आर्थिक एवं राजनीतिक कार्यक्रम हेतु देशवासियों को एकमत करना.
• लोगों को जाति, धर्म एवं प्रांतीयता की भावना से उठकर उनमें एक राष्ट्रव्यापी अनुभव को जागृत करना.
• भारतीय राष्ट्रवादी भावना को प्रोत्साहन देना एवं उसका प्रसार करना.

5. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए-
1. प्रेस एवं समाचार पत्र की भूमिका.
2. सुधार आंदोलन का विकासात्मक स्वरूप
3. भारत का प्रशासनिक, राजनीतिक एवं आर्थिक एकीकरण
19 वीं शताब्दी में आधुनिक राष्ट्रवाद के उदय के निम्नलिखित में से कौन सा/से कारण थे?
a. केवल 1
b. केवल 1 और 2
c. केवल 2 और 3
d. 1,2 और 3
Ans – d
19 वीं शताब्दी में आधुनिक राष्ट्रवाद के उदय के निम्नलिखित कारण थे-
• भारत एवं उपनिवेशी शासन के हितों में विरोधाभास
• भारत का प्रशासनिक, राजनीतिक एवं आर्थिक एकीकरण
• पाश्चात्य चिंतन तथा शिक्षा का प्रभाव
• प्रेस एवं समाचार पत्र की भूमिका
• भारत के अतीत का पुनः अध्ययन
• सुधार आंदोलन का विकासात्मक स्वरूप
• मध्यवर्गीय बुद्धिजीवियों का अभ्युदय
• तत्कालीन विश्वव्यापी घटनाओं का प्रभाव.
• अंग्रेज शासकों की प्रक्रियावादी नीतियां एवं जातिय अहंकार.

For Test Series – Click Here

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*