UPSC मेंस सिलेबसGS-PAPER I ,महत्वपूर्ण पुस्तक व रणनीति (SYLLABUS OF UPSC MAINS GS-I,LIST OF IMPORTANT BOOKS FOR PRELIMS )

Bookmark and Share
सामान्य अध्ययन – I :

सिलेबस के बारे में जानने से पहले UPSC द्वारा दिए गए इस दिशा निर्देश को पढ़े —

  • प्रधान परीक्षा का उद्देश्य उम्मीदवारों के समग्र बौद्धिक गुणों तथा उनके गहन ज्ञान का आकलन करना है , मात्र उनकी सूचना के भंडार तथा स्मरण शक्ति का आकलन करना नहीं।
  • सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्रों के प्रश्नों का स्वरुप तथा इनका स्तर ऐसा होगा कि कोई बहु सुशिक्षित व्यक्ति बिना किसी विशेष अध्ययन के इनका उत्तर दे सके। प्रश्न ऐसे होंगे जिनसे विविध विषयों पर उम्मीदवार की सामान्य जानकारी का परिक्षण किया जा सके और जो सिविल सेवा में कैरियर से सम्बंधित होंगे। प्रश्न इस प्रकार के होंगे जो सभी प्रासंगिक विषयों के बारे में उम्मीदवार की आधारभूत समझ तथा परस्पर विरोधी सामाजिक – आर्थिक लक्ष्यों , उद्देश्यों और मांगों का विश्लेषण तथा इन पर दृष्टिकोण अपनाने कि क्षमता का परिक्षण करे। उम्मीदवार संगत, सार्थक तथा सारगर्भित उत्तर दे।
    यह दिशा निर्देश आपके तैयारी के लिए एक सही दिशा दे सकती है। आपको किसी भी विषय में विशेषज्ञ नही बनना है बस उस विषय के लिए एक समझ विकसित करनी है ,और यह समझ विकसित होगा कुछ पुस्तकों को बार बार पढ़ने से व लिखने के अभ्यास करने से।आपने जिस दिन से मुख्य परीक्षा कि तैयारी शुरू कर दी उसी दिन से आप लिखने का अभ्यास शुरू कर दीजिए।

सामान्य अध्ययन – I : भारतीय विरासत और संस्कृति ,विश्व का इतिहास एवं भूगोल और समाज

इसके अन्तर्गत 12 टॉपिक व लगभग 35 सबटॉपिक आते है। आप इस सिलेबस को बार बार देखे जिससे ये सारे टॉपिक आप स्मरण कर सके। आइए अब सिलेबस पर विस्तार से चर्चा करते हैं।

भारतीय संस्कृति में प्राचीन काल से आधुनिक काल तक के कला के रूप ,साहित्य और वास्तुकला के मुख्य पहलू शामिल होंगे ।

    इस टॉपिक के अन्तर्गत 3 सब टॉपिक आते हैं ,वो हैं कला के रूप ,साहित्य और वास्तुकला। इसके लिए आपको सर्वप्रथम NIOS की क्लिक करे…कला एवं संस्कृति के मैटेरियल्स पढ़ने चाहिए जिसे पढ़ कर आप अपना एक विस्तृत नोट्स बना ले ।उसके उपरांत CCRT का PDFडाउनलोड करके पढ़े।

18वीं सदी के मध्य से लेकर वर्तमान समय तक का आधुनिक भारतीय इतिहास – महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यक्तित्व ,विषय।

    इस टॉपिक के लिए आप राजीव अहीर की पुस्तक आधुनिक भारत का इतिहास अवश्य पढ़े और विगत वर्षों में पूछे गए प्रश्नों को देखते रहे जिससे आपको पुस्तक के विश्लेषण करने की दिशा मिलती रहे।

स्वतंत्रता संग्राम – इसके विभिन्न चरण और देश के विभिन्न भागों से इसमें अपना योगदान देने वाले महत्वपूर्ण व्यक्ति /उनका योगदान।

    फिर से सिर्फ एक पुस्तक आधुनिक भारत का इतिहास – राजीव अहीर।

स्वतंत्रता के पश्चात् देश के अंदर एकीकरण और पुनर्गठन।

    आजादी के बाद भारत – बिपिन चंद्र ,अध्याय 6-12

विश्व के इतिहास में 18वीं सदी की घटनाएं यथा औद्योगिक क्रांति , विश्व युद्ध ,राष्ट्रीय सीमाओं का पुनः सीमांकन , उपनिवेशवाद ,उपनिवेशवाद की समाप्ति ,राजनितिक दर्शन शास्त्र जैसे साम्यवाद ,पूंजीवाद ,समाजवाद ,आदि शामिल होंगे ,उनके रूप और समाज पर उनका प्रभाव।

    समकालीन विश्व का इतिहास – अर्जुन देव , यह पुस्तक के अन्तर्गत इस टॉपिक के लगभग सारे सब टॉपिक सम्मिलित हैं।

भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएं ,भारत की विविधता ।

    भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएं – इसके लिए आप सिर्फ कक्षा 11 ,12 की NCERT की समाजशास्त्र क्लिक करे… की पुस्तक पढ़े।
    UPSC इस टॉपिक से प्रश्न हमेशा देश दुनिया में हो रही घटनाओं से जोड़ कर पूछती हैं , इसीलिए इन विषयों पर एक समझ बना लेने के उपरांत आप न्यूज़ पेपर पढ़ते रहे।

महिलाओं की भूमिका और महिला संगठन , जनसंख्या एवं सम्बद्ध मुद्दे ,गरीबी और विकासात्मक विषय ,शहरीकरण ,उनकी समस्याएं और उनके रक्षोपाय।

    सामाजिक समस्याएं – राम आहूजा।
    UPSC इस टॉपिक से प्रश्न हमेशा देश दुनिया में हो रही घटनाओं से जोड़ कर पूछती हैं , इसीलिए इन विषयों पर एक समझ बना लेने के उपरांत आप न्यूज़ पेपर पढ़ते रहे।

भारतीय समाज पर भूमंडलीकरण का प्रभाव ।

    सामाजिक समस्याएं – राम आहूजा।
    UPSC इस टॉपिक से प्रश्न हमेशा देश दुनिया में हो रही घटनाओं से जोड़ कर पूछती हैं , इसीलिए इन विषयों पर एक समझ बना लेने के उपरांत आप न्यूज़ पेपर पढ़ते रहे।

सामाजिक सशक्तीकरण ,सम्प्रदायवाद ,क्षेत्रवाद और धर्म-निरपेक्षता ।

    UPSC इस टॉपिक से प्रश्न हमेशा देश दुनिया में हो रही घटनाओं से जोड़ कर पूछती हैं , इसीलिए इन विषयों पर एक समझ बना लेने के उपरांत आप न्यूज़ पेपर पढ़ते रहे।

विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशषेताएं ।

विश्व भर के मुख्य प्राकृतिक संसाधनों का वितरण (दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप को शामिल करते हुए ),विश्व (भारत सहित) के विभिन्न भागों में प्राथमिक ,द्वितीयक और तृतीयक क्षेत्र के उद्योगों को स्थापित करने के लिए जिम्मेदार कारक।

    NCERT class 12 – मानव भूगोल के मूल सिद्धान्त
    NCERT class 12 -भारत लोग और अर्थव्यवस्था क्लिक करे…

भूकंप ,सुनामी ,ज्वालामुखीय हलचल ,चक्रवात आदि जैसी महत्वपूर्ण भू-भौतिकीय घटनाएं ,भूगोलीय विशेषताएं और उनके स्थान -अति महत्वपूर्ण भूगोलीय विशेषताओं (जल श्रोत और हिमवरण सहित )और वनस्पति और प्राणी जगत में परिवर्तन और इस प्रकार के परिवर्तनो का प्रभाव ।

    विश्व का भूगोल – एस के ओझा

अभी तक हमने देखा की हमें कौन कौन सी पुस्तक पढ़नी हैं , अब यक्ष प्रश्न यह हैं कि हम इन सारी चीज़ों को याद कैसे रखे और परीक्षा में एक बेहतर उत्तर कैसे लिखे —

  • अधिकांश अभ्यर्थी एक सामान्य गलती करते हैं कि वह एक ही विषय के लिए बहुत सारी पुस्तकों को पढ़ते हैं, जिससे वो अपना समय और स्मरण करने कि शक्ति दोनों को बर्बाद करते हैं।
  • आप अपने विषयों के लिए अपने स्रोत पर स्थिर रहें और और उसे ही बार बार पढ़े ,और स्मरण करे। किसी भी विषय के विशेषज्ञ बनने से बचे।
  • एक बात हमेशा याद रखे UPSC आपके सामान्य समझ को जांचती हैं न कि विशेष समझ को।
  • आप अपना एक नोट्स बनाए लेकिन वो भी एक विषय के लिए एक ही पुस्तक से भले ही आप उस पुस्तक से पूर्णतः संतुष्ट न हो ।Research करने से बचे।
  • और सबसे महत्वपूर्ण Writing Writing Writing …
  • अर्थात आप पुस्तकों को पढ़े फिर उसी पुस्तकों को तब तक पढ़े जब तक एक समझ विकसित न हो जाए ,फिर उन्ही विषयों पर लिखे और स्मरण करे …..

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*