वित्त मंत्रालय की प्रमुख योजनाएं

  • Home
  • वित्त मंत्रालय की प्रमुख योजनाएं

वित्त मंत्रालय की प्रमुख योजनाएं

वरिष्ठ पेंशन बीमा योजना

उद्देश्य

  • वृद्धावस्था के दौरान सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना तथा बाजार की अनिश्चित परिस्थितियों के कारण वृद्ध व्यक्तियों को प्राप्त होने वाली ब्याज संबंधी आय में भविष्य में होने वाली गिरावट से उनकी सुरक्षा करना.

लाभार्थी

  • 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के वृद्ध व्यक्ति.

विशेषताएं

  • यह योजना 10 वर्षों के लिए निश्चित पेंशन प्रदान करेगी. यह पेंशन राशि 8% रिटर्न की गारंटी युक्त दर पर आधारित होगी.
  • इसका कार्यान्वयन भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC)के माध्यम से किया जाएगा.
  • LIC द्वारा प्राप्त किए गए रिटर्न और 8% ब्याज की गारंटी के बीच अंतर के कारण होने वाली हानि की पूर्ति LIC को दी जाने वाली सब्सिडी के माध्यम से की जाएगी.

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना

उद्देश्य

  • एक वर्षीय जीवन बीमा योजना.
  • किसी भी कारण से मृत्यु के लिए कवरेज उपलब्ध कराना.

लाभार्थी –

  • 18 से 50 वर्ष के आय समूह के लिए उपलब्ध .
  • 55 वर्ष की आय तक जीवन बीमा कवर उपलब्ध होगा.

विशेषताएं

  • 1 जून 2015 से इससे जुड़े लोगों के जीवन सम्बन्धी जोखिम का कवर प्रारम्भ.
  • 1 जून से 31 मई की अवधी के लिए प्रति वर्ष प्रति सदस्य 330 रुपए के प्रीमियम पर 2 लाख रुपए का जीवन बीमा उपलब्ध होगा.

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

उद्देश्य

  • इस योजना का प्रमुख लक्ष्य किसी भी दुर्घटना बीमा के तहत न आने वाली जनसंख्या को 12 रुपए प्रति वर्ष के प्रीमियम पर कवर प्रदान करना है .

लाभार्थी

  • 18 से 70 वर्ष के आयु समूह के लोगों के लिए उपलब्ध ,जिनके पास बचत बैंक खाता है .

विशेषताएं

  • दुर्घटना में मौत एवं स्थायी पूर्ण विकलांगता के लिए 2 लाख रुपए का जोखिम कवरेज उपलब्ध होगा .
  • स्थायी आंशिक विकलांगता के लिए 1 लाख का कवरेज .

अटल पेंशन योजना

उद्देश्य

  • अंशदाता 60 वर्ष की आयु के उपरांत अपने अंशदान के आधार पर एक न्यूनतम पेंशन प्राप्त करेगा .

लाभार्थी

  • 18 से 40 वर्ष की आयु वाले सभी भारतीय नागरिक इससे जुड़ सकते है .
  • कोई भी बैंक खाता धारक जो किसी वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना से नहीं जुड़ा है ,इस योजना से जुड़ सकता है .
  • यह मुख्य रूप से असंगठित क्षेत्र के नागरिक पर केंद्रित है .
  • सरकार की स्वावलम्बन योजना के सभी वर्तमान सदस्य स्वतः ही ‘अटल पेंशन योजना’ में स्थान्तरित हो जाएंगे.

विशेषताएं

  • केंद्र सरकार प्रत्येक पात्र अंशदाता को 5 वर्ष तक उसके कुल अंशदान का ५०% अथवा प्रति वर्ष 1000 रुपए का सह अंशदान करेगी .
  • 60 वर्ष से पूर्व इस योजना का त्याग नहीं किया जा सकता .

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

उद्देश्य

  • युवाओं को रोजगार सृजनकर्ता बनाना .
  • ऐसे गैर वित्तपोषित उद्यमों को औपचारिक वित्तीय प्रणाली के तहत लाकर तथा उन्हें सस्ते ऋण उपलब्ध कराकर वित्तपोषित करना .
  • सूक्ष्म इकाइयों और सूक्ष्म वित्तीय संस्थानों का विकास एवं उन्हें पुनर्वित्त प्रदान करना.

लाभार्थी

  • कोई भी भारतीय नागरिक जिनके पास गैर कृषि क्षेत्र के लिए वयवसाय की योजना हो .

विशेषताएं

  • यह एक लघु ऋण प्राप्तकर्ता को गैर – कृषि आय उत्पादक गतिविधियों के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों ,सूक्ष्म वित्तीय संस्थानों और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी से 10 लाख रुपए तक के ऋण प्राप्त करने हेतु सक्षम बनाती है .
  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत दिए जाने वाले ऋण के लिए कोई सब्सिडी नहीं दी जाती है .
  • प्रधानमंत्री मुद्रा योजना को सफल करने के लिए सरकार लोन मेला का भी आयोजन कर रही है .

राष्ट्रीय पेंशन योजना

उद्देश्य

  • सभी नागरिकों को सेवानिवृति आय प्रदान करना.
  • पेंशन सुधारों को संस्थागत करना और नागरिकों में सेवानिवृति सम्बन्धी बचत की आदत डालना .

लाभार्थी

  • 18 -60 वर्ष की आयु वाले सभी भारतीय नागरिक.

विशेषताएं

  • 18 -60 वर्ष की आयु वाले सभी भारतीय नागरिक इस योजना से जुड़ सकते है .
  • मौजूदा सभी पेंशन योजनाओं , जिसमे EPFO की योजनाएं भी सम्मिलित है ,के विपरीत राष्ट्रीय पेंशन योजनासभी प्रकार के नौकरियों तथा सभी स्थानों पर सीमलेस पोर्टेबिलिटी की सुविधा प्रदान करता है .
  • साधारणतः राष्ट्रीय पेंशन योजना के रूप में अकाउंट खुलवाने पर एक स्थायी सेवानिवृति खता संख्या (PRAN) प्रदान की जाती है ,और यह अभिदाता के साथ आजीवन रहता है .

COMMENTS (1 Comment)

SHIV PRATAP SINGH Apr 25, 2017

its very usefull.

LEAVE A COMMENT

Search



Subscribe to Posts via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.