ध्वनि

  • Home
  • ध्वनि

ध्वनि

महत्वपूर्ण तथ्य

  • ध्वनि की गति ठोस में सर्वाधिक होती है जबकि गैसों में न्यूनतम होती है.
  • सामान्य ताप व दाब पर वायु में ध्वनि का वेग लगभग 332 मीटर प्रति सेकंड होता है.
  • ध्वनि तरंगे निर्वात में नहीं चल सकती है.
  • म्यूजिक कंसर्ट्स के लिए बनी हॉल की दीवारों को ध्वनि का अवशोषण करना चाहिए.
  • स्पष्ट रूप से प्रतिध्वनि सुनने के लिए परावर्तित सतह और सुनने वाले के मध्य कम से कम 16.5 मीटर की दूरी होनी चाहिए.
  • चंद्रमा के धरातल पर दो व्यक्ति एक दूसरे की बात नहीं सुन सकते क्योंकि चंद्रमा पर वायुमंडल नहीं है. अतः चंद्रमा पर ध्वनि प्रचारित करने का माध्यम नहीं होता है.
  • कम लंबाई की बांसुरी से उच्च आवृत्ति की तरंगे उत्पन्न होती है.
  • ध्वनि एक अनुदैर्ध्य तरंग है.
  • पराश्रव्य ध्वनि ऐसी ध्वनि है जिनकी आवृत्ति 20,000 hz से अधिक होती है.
  • पराश्रव्य तरंग कीड़ों को नष्ट कर सकती है , कपड़ों से धूल हटा कर उसे प्राप्त कर सकती है इसका उपयोग बीमारियों के उपचार के लिए किया जा सकता है तथा यह स्वचालित दरवाजों को नियंत्रित कर सकती है.
  • सोनोग्राफी में पराश्रव्य ध्वनि का उपयोग किया जाता है.
  • चमगादड़ अंधेरी रातों में उड़ सकते हैं और अपना शिकार भी कर सकते हैं क्योंकि वह पराध्वनि तरंगे निकालते हैं और उन्हीं के द्वारा निर्देशित होते हैं.
  • ह्रदय अपश्रव्य आवृति पर कंपन करता है.
  • मैक संख्या ध्वनि की गति वर्णित करने के लिए प्रयोग में लाते हैं.
  • ध्वनि की तीव्रता नापने के लिए डेसीबल इकाई का प्रयोग किया जाता है.
  • साधारण बातचीत में 30 – 60 डेसीबल ध्वनि उत्पन्न होती है.
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार एक नगर के लिए सुरक्षित ध्वनि प्रदूषण स्तर 45 डेसीबल है
  • मनुष्यों के लिए सुनने की सहन सीमा अधिकतम 85 डेसिबल है.
  • विद्युत चुंबकीय स्पेक्ट्रम में शामिल विभिन्न तरह के संदर्भ में अवरोही क्रम इस प्रकार है- रेडियो तरंगे > माइक्रोवेव > अवरक्त विकिरण > दृश्य प्रकाश > पराबैगनी किरण > x किरण > गामा किरण
  • Tv रिमोट में रेडियो तरंग का प्रयोग किया जाता है.
  • टेलीविजन के दूरस्थ नियंत्रण के लिए अवरक्त विद्युत चुंबकीय विकिरण का प्रयोग किया जाता है.
  • COMMENTS (No Comments)

    LEAVE A COMMENT

    Search



    Subscribe to Posts via Email

    Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.