CSO ने GDPके प्रथम अग्रिम अनुमान जारी किये

  • Home
  • CSO ने GDPके प्रथम अग्रिम अनुमान जारी किये

CSO ने GDPके प्रथम अग्रिम अनुमान जारी किये

केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय (CSO) ने हाल ही में 2019-20 के लिए सकल घरेलु उत्पाद के प्रथम अग्रिम अनुमान जारी किये। CSO के अनुमान के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी विकास दर 5% रहने का अनुमान है। यह अनुमान पिछले दो तिमाहियों पर आधारित है। 2018-19 में जीडीपी विकास दर 6.8% रही थी। इस वर्ष विनिर्माण सेक्टर में मंदी के कारण जीडीपी विकास दर में कमी आई है। 2019-20 के दौरान विनिर्माण सेक्टर की विकास दर 2% रही, जबकि पिछले वर्ष यह दर 6% थी।
केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय (CSO)
केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय केन्द्रीय सांख्यिकी व कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय के अधीन कार्य करता है। यह देश में सांख्यिकी सम्बन्धी गतिविधियों का कार्य करता है। यह राष्ट्रीय आय, उद्योगों का वार्षिक सर्वेक्षण, आर्थिक जनगणना, औद्योगिक उत्पादन सूचकांक का संकलन, मानव विकास सांख्यिकी, लैंगिक सांख्यिकी इत्यादि से सम्बंधित कार्य करता है।
सकल घरेलू उत्पाद (GDP)
सकल घरेलू उत्पाद (GDP) एक अर्थव्यवस्था के आर्थिक प्रदर्शन का एक बुनियादी माप है, यह एक वर्ष में एक राष्ट्र की सीमा के भीतर सभी अंतिम माल और सेवाओ का बाजार मूल्य है। GDP (सकल घरेलू उत्पाद) को तीन प्रकार से परिभाषित किया जा सकता है, जिनमें से सभी अवधारणात्मक रूप से समान हैं।

  • पहला, यह एक निश्चित समय अवधि में (आम तौर पर 365 दिन का एक वर्ष) एक देश के भीतर उत्पादित सभी अंतिम माल और सेवाओ के लिए किये गए कुल व्यय के बराबर है।
  • दूसरा, यह एक देश के भीतर एक अवधि में सभी उद्योगों के द्वारा उत्पादन की प्रत्येक अवस्था (मध्यवर्ती चरण) पर कुल वर्धित मूल्य और उत्पादों पर सब्सिडी रहित कर के योग के बराबर है।
  • तीसरा, यह एक अवधि में देश में उत्पादन के द्वारा उत्पन्न आय के योग के बराबर है- अर्थात कर्मचारियों की क्षतिपूर्ति की राशि, उत्पादन पर कर और सब्सिडी रहित आयात और सकल परिचालन अधिशेष (या लाभ)।
  • COMMENTS (No Comments)

    LEAVE A COMMENT

    Search



    Subscribe to Posts via Email

    Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.