समसामयिकी अक्टूबर : CURRENT AFFAIRS OCTOBER : 22-30

  • Home
  • समसामयिकी अक्टूबर : CURRENT AFFAIRS OCTOBER : 22-30

समसामयिकी अक्टूबर : CURRENT AFFAIRS OCTOBER : 22-30

हिमाचल प्रदेश खुले में शौच से मुक्त देश का दूसरा राज्य

हिमाचल प्रदेश खुले में शौच से मुक्त देश का दूसरा राज्य बन गया है |इससे पहले सिक्किम को खुले में शौच से मुक्त देश का पहला राज्य घोषित किया गया था |इसके साथ ही हिमाचल प्रदेश ने सफलतापूर्वक 100 % स्वच्छता कवरेज हासिल कर लिया है |

सखारोव पुरस्कार 2016

  • इराकी मूल की यज़ीदी महिलाओं -नदिया मुराद (23) और लामिया अज़ी बशर (18) को यूरोपीय संसद ने प्रतिस्थित सखारोव पुरस्कार से सम्मानित किया |
  • दोनों महिलाओं को इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने यौन गुलाम बना के रखा था | वहां से आज़ाद होने के बाद वे मानवाधिकारों के लिए काम कर रही थी |
  • मैन बुकर पुरस्कार 2016

  • अमेरिकी लेखक पॉल बीटी को उनके नस्लभेद पर आधारित व्यंग ‘the sailout’ के लिए मैन बुकर पुरस्कार 2016 से सम्मानित किया गया |
  • मैन बुकर पुरस्कार दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित अंग्रेजी भाषा के साहित्यिक पुरस्कार है।
  • एनएसजी: न्यूजीलैंड मुख्य भूमिका में

    न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री जॉन की भारत की यात्रा पर है। भारत के परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह का सदस्य बनने पर चर्चा करने के लिए हाल ही में, एक बैठक न्यूजीलैंड प्रधानमंत्री और भारतीय प्रधानमंत्री के बीच आयोजित किया गया | इस बैठक के दौरान, न्यूजीलैंड ने संकेत दिया है कि NSG के मुद्दे पर वह भारत का साथ देगा।
    एनएसजी क्या है?
    NSG 48 देशों का समूह है जो परमाणु निर्यात पर नियंत्रण रखता है |
    भारत के परमाणु परीक्षण का मुकाबला करने के 74 में स्थापित किआ गया |
    भारत NSG का सदस्य बनने के लिए 2008 से ही प्रयासरत है
    MTCR क्या है ?
    Missile Technology Control regime – मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था
    MTCR 35 देशों का समूह है जो कि ड्रोन सहित मिसाइल प्रौद्योगिकी के निर्यात को नियंत्रित करता है | ऐसे मिसाइल व ड्रोन जो ३०० km तक प्रत्याघात कर सके और 500 kg तक विस्फोटक पदार्थ अपने साथ ले जा सके के आयत को नियंत्रित करना |
    इसे 1987 में जी -7 के सदस्यों द्वारा गठित किया गया |
    भारत MTCR का सदस्य है |
    ऑस्ट्रेलिया ग्रुप क्या है?
    इसे 1985 में स्थापित किया गया और इसके 42 सदस्य है |
    जैविक और रासायनिक प्रौद्योगिकी पर नियंत्रण करता है |
    वसेनार ग्रुप क्या है ?
    इसे 1996 में स्थापित किया गया और इसके 41 सदस्य है |
    यह पारंपरिक हथियारों के आयत पर नियंत्रण करता है |

    ऊर्जा गंगा

    प्रधानमंत्री मोदी ने हाल ही में वाराणसी में अत्यधिक महत्वाकांक्षी गैस पाइपलाइन परियोजना ऊर्जा गंगा, का शुभारंभ किया।
    मुख्य बिंदु

  • इस गैस पाइप लाइन परियोजना का उद्देश्य 2 साल के अंदर वाराणसी के निवासियों को रसोई गैस उपलब्ध कराना हैं | और उसके एक साल के भीतर इस परियोजना का लाभ बिहार ,झारखण्ड ,पश्चिम बंगाल व ओडिसा के लाखों लोगों तक पहुचाना हैं |
  • वाराणसी के लिए एक 800 किलोमीटर लंबी पाइपलाइन MDPI लगाया जाएगा और इससे 50,000 घरों और 20,000 वाहनों को क्रमशः पीएनजी और सीएनजी गैस मिल जाएगा। सरकार का अनुमान है कि 5 लाख के आसपास गैस सिलेंडर ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिवर्ष भेजा जाएगा।
  • गेल के मुताबिक, ऊर्जा गंगा परियोजना के साथ, 20 लाख परिवारों को पीएनजी कनेक्शन मिल जाएगा। परियोजना सामूहिक विकास और भारत के पूर्वी क्षेत्र के विकास की दिशा में एक बड़ा कदम माना जा रहा है।
  • चंद्रयान -2 मिशन के लिए लैंडिंग परीक्षण शुरू

    भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ISRO ने जमीन और हवा में चंद्रयान -2 के महत्वपूर्ण चंद्रमा लैंडिंग से जुड़े परीक्षण की एक श्रृंखला शुरू कर दिया है।
    मुख्य बिंदु

  • परीक्षण कर्नाटक में स्थित इसरो के विज्ञान शहर में आयोजित किया जा रहा है।
  • इसरो उपग्रह केंद्र या आईएसएसी, दूसरे मून मिशन के लिए नेतृत्व सेंटर, कृत्रिम रूप से चंद्र इलाके अनुकरण और लैंडर के सेंसर परीक्षण करने के लिए दस खड्ड के निकट बनाया गया है।
  • चंद्रयान -2 के बारे में

  • चंद्रयान -2 अंतरिम रूप से 2017 -2018 के लिए निर्धारित है, और इसमें चंद्रमा पर नरम लैंडिंग और इसकी सतह पर एक रोवर चलना भी शामिल है।
  • यह पिछले चंद्रयान -1 मिशन की एक उन्नत संस्करण है।इसमें एक परिक्रमा, लैंडर और रोवर विन्यास हैं।
  • इसे पृथ्वी पार्किंग जीएसएलवी-एमके द्वितीय द्वारा 170 x 18,500 किलोमीटर की कक्षा (ईपीओ) में शुरू करने की योजना है।
  • ‘मोबाइल एयर डिस्पेंसरी’

    पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), डॉ जितेंद्र सिंह ने पूर्वोत्तर के दूरदराज के क्षेत्रों के लिए “मोबाइल एयर डिस्पेंसरी” सेवा का प्रस्ताव किया है|
    मुख्य बिंदु

  • मोबाइल एयर डिस्पेंसरी के अन्तर्गत हेलिकॉप्टर में ही डिस्पेंसरी है जिसमे एक डॉक्टर, आवश्यक उपकरणों और दवाओं के साथ रहेगा और आवश्यकता पड़ने पर दूर दराज के इलाको में जा सकेगा |
  • इस पहल से उन क्षेत्रों के रोगियों का फ़ायदा होगा जो डिस्पेंसरी तक जाने में असमर्थ है |
  • राष्ट्रीय जनजातीय महोत्सव

    पहला राष्ट्रीय जनजातीय महोत्सव का नई दिल्ली में उद्घाटन किया गया। महोत्सव जनजातीय लोगों के बीच एकीकरण करने के भाव को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से किया गया है।
    मुख्य बिंदु

  • महोत्सव का उद्देश्यण जनजातीय संस्कृ्ति, परंपरा और कौशल को संरक्षण और प्रोत्साहन प्रदान करना और इसे लोगों के सामने प्रस्तुत कर जनजातीय समुदाय के लोगों के समेकित विकास की संभावनाओं का प्रयोग करना है।
  • लगभग 1,600 जनजातीय कलाकारों और देश भर से करीब 8,000 जनजातीय प्रतिनिधियों कार्निवल में भाग लिया।
  • यह महोत्सव अंतर्निहित विचार के संरक्षण और संस्कृति, परंपरा, रीति-रिवाज और अपने कौशल से संबंधित आदिवासी जीवन के विभिन्न पहलुओं को बढ़ावा देने, और एक दृश्य के साथ आम जनता को बेनकाब करने के लिए अनुसूचित जनजाति के समग्र विकास के लिए क्षमता का उपयोग करने के लिए आयोजित किया गया |
  • डूइंग बिजनेस इंडेक्स में भारत का 130 वाँ स्थान

  • वर्ल्ड बैंक की ओर से जारी डूइंग बिजनेस इंडेक्स में भारत को 190 देशों में 130वीं पायदान पर रखा गया है।
  • पिछले साल भारत 131वें नंबर पर था।
  • अलग-अलग मामलों में भारत की रैंकिंग
    1. बजनेस में आसानी में – 130
    2. बिजनेस शुरू करने में – 139
    3. कंस्ट्रक्शन परमिशन में – 135
    4. बिजली पाने में – 122
    5. प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री में – 103
    6. कर्ज हासिल करने में – 118
    7. माइनोरिटी इन्वेस्टर्स के इंटरेस्ट का ख्याल रखने में – 145
    8. टैक्स अदायगी में – 67
    9. सीमापार व्यापार में – 134
    10. कॉन्ट्रैक्ट्स पर अमल में – 127
    11. इनसॉल्वेंसी रिजॉल्व करने में – 143

    डूइंग बिजनेस लिस्ट में टॉप-5 देश
    1. न्यूजीलैंड
    2. सिंगापुर
    3. डेनमार्क
    4. हांगकांग
    5. साउथ कोरिया

    मित्र शक्ति 2016

  • यह भारत और श्रीलंका के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास का चौथा संस्करण है।
  • इसे अम्बेपुसा में सिन्हा रेजिमेंटल सेंटर, श्रीलंका में आयोजित किया जा रहा है।
  • संयुक्त अभ्यास के इस संस्करण का मुख्य फोकस संयुक्त राष्ट्र के जनादेश के तहत उग्रवाद रोधी (सीआईए) / काउंटर टेररिज्म (सीटी) के संचालन पर परस्पर कार्यक्षमता को बढ़ाना है।
  • श्रीलंकाई सेना के साथ पिछला अभ्यास भारत में पुणे में सितंबर 2015 के महीने में सफलतापूर्वक आयोजित किया गया।
  • BIOTECH- KISAN

  • बायोटेक-किसान को हाल ही में सरकार के द्वारा शुरू किया गया है ।
  • मुख्य बिंदु

  • बायोटेक-किसान एक नया प्रोग्राम है जो किसानों विशेष रूप से महिला किसानों को सशक्त बना रहा है।
  • यह योजना किसानों के लिए, किसानों द्वारा विकासित है जिसका उद्देश्य किसानों खासकर महिला किसानों में उद्यमशीलता और नवीनता को जागरूक करना है।
  • बायोटेक-किसान:
    किसानों के लिए- बायोटेक-किसान जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा जारी किया गया किसान क्रेंद्रित योजना है जहां वैज्ञानिक किसानों की समस्याओं को समझने और समाधान खोजने के तरीकों पर काम करेंगे।

    किसानों द्वारा— किसानों के साथ परामर्श करके विकसित किया गया है। मिट्टी, पानी, बीज और बाजार कुछ प्रमुख बिंदु हैं जो छोटे और सीमांत किसानों से संबंधित हैं। बायोटेक-किसान का उद्देश्य पूरे देश के किसानों, वैज्ञानिकों और विज्ञान संस्थाओं को एक ही नेटवर्क में जोड़ना है ताकि उनकी (किसानों की) समस्याओं का सही तरीके से समाधान निकालकर मदद प्रदान किया जा सके।

    महिलाओं को सशक्त बनाना--महिला किसान अक्सर उपेक्षित रहती है। यह जरूरी है कि महिला किसानों को सशक्त बनाया जाए इसके लिए बेहतर बीज की उपलब्धता, बीज के भंडारण और रोग तथा कीटनाशकों से फसलों की सुरक्षा उपलब्ध कराकर उन्हें मजबूती एवं प्रोत्साहन दिया जा सकता है।महिला किसान पशुओं की अच्छे तरीके से देख-भाल करती हैं और पशुधन से निपटने में वे खासकर रोग से संबंधित मामलों में पारंपरिक तरीके अपनाती हैं। इस योजना के अंतर्गत महिला किसानों को प्रशिक्षण और शिक्षा देने के उद्देश्य से महिला बायोटेक-किसान फेलोशिप की शुरूआत की गई है। इस योजना के तहत महिला किसानों को आगे बढ़ने में कई तरह से मदद प्रदान की जाती है।

    वैश्विक स्तर पर जुड़ाव-—बायोटेक-किसान सर्वश्रेष्ठ वैश्विक तरीकों के लिए किसानों को जोड़ेगा एवं भारत तथा साथ ही अन्य देशों में प्रशिक्षण कार्यशालाओं का आयोजन भी करेगा।जिसके फलस्वरूप किसानों और वैज्ञानिकों का दुनिया भर में भागीदारी होगा।

    स्थानीय स्तर पर प्रभाव-— यह योजना हाशिए पर रहने वाले कम शिक्षित किसानों को लक्षित करती है, वैज्ञानिक ऐसे किसानों के साथ ज्यादा से ज्यादा समय व्यतीत करेंगे और उनकी मिट्टी, पानी, बीज तथा बाजार संबंधित समस्याओं पर बात करेंगे। इसका उद्देश्य ऐसे हरेक किसान की समस्या को समझकर उन्हें समाधान उपलब्ध कराना है।

    पूरे भारत में-—-बायोटेक-किसान किसानों को 15 कृषि-जलवायु क्षेत्रों में वितरित कर विज्ञान के माध्यम से इस तरह जोड़ेगा कि उनकी समस्याएं और समाधान आसानी से उपलब्ध हो सके।

    केन्द्रों (हब) और वार्ता-—- इन 15 क्षेत्रों में से प्रत्येक में, एक किसान संगठन को इस क्षेत्र के विभिन्न विज्ञान प्रयोगशालाओं, कृषि विज्ञान केंद्र और राज्य कृषि विश्वविद्यालयों में स्थित हब से जोड़ा जाएगा। यह हब क्षेत्र के किसानों तक पहुँचेगा और उन्हें वैज्ञानिकों और संस्थानों से जोड़ेगा।

    आविष्कारक की तरह किसान—हब में प्रयोगशाला, संचार सेल और सालभर चलने वाला प्रशिक्षण, जागरूकता, कार्यशालाओं तथा ऐसी इकाई जहां युवाओं के साथ-साथ महिला किसानों को नये-नये आविष्कारों के माध्यम से प्रोत्साहित किया जायेगा।

    संचार के माध्यम से प्रसार—-संचार माध्यम स्थापित किया जायेगा जिसके जरिए रेडियो और टीवी कार्यक्रमों के साथ-साथ सोशल मीडिया से भी जुड़ाव स्थापित किया जा सके।

    भारत ने दक्षिण कोरिया के साथ दोहरा कराधान बचाव करार(DTAA) अधिसूचित किया

  • भारत ने दक्षिण कोरिया के साथ संशोधित दोहरा कर बचाव समझौता अधिसूचित किया है |यह 1 अप्रैल 2017 से पूंजीगत लाभ पर लगाया जाएगा |
  • DTAA में सुधार का उद्देश्य दोनों देशों के नागरिक को दोहरे कर से बचाना है |
  • एच5 एवियन इंफ्लुएंजा के प्रकोप की देखरेख के लिए निगरानी समिति का गठन

  • दिल्ली , राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के राष्ट्रीय चिडि़याघर एवं देश के अन्यव भागों में एच5 एवियन इंफ्लुएंजा वायरस के कारण पक्षियों के मरने की रिपोर्टों पर त्वरित कार्रवाई करते हुए केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री अनिल माधव दवे ने देश में एच5 एवियन इंफ्लुएंजा वायरस के प्रकोप की देखरेख के लिए एक निगरानी समिति गठित करने का निर्देश दिया है।
  • समिति राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के राष्ट्रीय प्राणी उद्यान एवं देश के अन्य चिडि़याघर में एच5 एवियन इंफ्लुएंजा की दैनिक घटनाओं की देखरेख करेगी और पर्यावरण मंत्री को दैनिक रिपोर्ट प्रस्तुंत करेगी।
  • एवियन इन्फ्लुएंजा या बर्ड फ्लू :
    एवियन इन्फ्लूएंजा जिसे आमतौर पर बर्ड फ्लू कहा जाता है एक गंभीर वायरल बीमारी है जो मुख्यतः पक्षियों में होता है |हालांकि अधिकांश इन्फ्लूएंजा वायरस मनुष्यों को संक्रमित नहीं करते हैं, परंतु (H5N1) और (H7N9) लोगों में गंभीर संक्रमण के कारण होता है।
    बर्ड फ्लू के लक्षण
    बुखार, खांसी, गले में खराश, मांसपेशियों, शरीर में दर्द, मतली गंभीर सांस लेने में तकलीफ, निमोनिया, और तीव्र श्वसन संकट सिंड्रोम बर्ड फ्लू के प्रमुख लक्षण हैं।

    पूंजी खाता परिवर्तनीयता (Capital Account Convertibility)

  • सरकार ने स्पष्ट किया है कि वह पूर्ण पूंजी खाता परिवर्तनीयता को अगले कुछ वर्षों के लिए नहीं ला रही है।
  • भारतीय रिजर्व बैंक के पिछले गवर्नर रघुराम राजन,ने कहा था कि केंद्रीय बैंक कुछ ही वर्षों में पूर्ण पूंजी खाता परिवर्तनीयता लाने के बारे में सोच रही है ।

  • पूंजी नियंत्रण क्या हैं?

    पूंजी नियंत्रण राज्य द्वारा अप्रत्याशित पूंजी प्रवाह की वजह से संभावित खतरे से अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए किया जाता है।
    पूंजी खाता परिवर्तनीयता का क्या तात्पर्य है?
    बाजार निर्धारित विनिमय दरों पर स्थानीय वित्तीय परिसंपत्तियों का विदेशी परिसंपत्तियों में परिवर्तनीयता को ही पूंजी खाता परिवर्तनीयता कहते है |

    भारत महिला साक्षरता में पिछड़ा

  • भारत महिला साक्षरता में स्कूल स्तर पर गुणवत्ता के मामले में अपने पडोसी पाकिस्तान, नेपाल व बांग्लादेश से पीछे है |
  • शोध बताता है की भारत में केवल 48% महिला ही अपनी 5 वर्षों की प्राथमिक शिक्षा पूरा कर पाती है |जबकि नेपाल में 92 % पाकिस्तान में 74 % व बांग्लादेश में 54 % महिलाये प्राथमिक शिक्षा पूर्ण कर पाती है |
  • ‘उज्ज्वला-प्लस’

  • केंद्र सरकार गरीब (बीपीएल) परिवारों के लिए नई एलपीजी कनेक्शन योजना शुरु करने की तैयारी कर रही है। इस योजना के तहत उन गरीब परिवारों को मुफ्त एलपीजी गैस कनेक्शन दिया जाएगा, जिन परिवारों को सामाजिक एवं आर्थिक जनगणना में नाम नहीं होने की वजह से उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त गैस कनेक्शन नहीं मिल पा रहा है।
  • ‘उज्जवला प्लस’ योजना लोगों के सहयोग से शुरु की जाएगी। ‘गिव इट अप’ की तरह सरकार लोगों के सहयोग से इस योजना का लाभ जरुरत मंदों तक पहुचाएंगी।
  • पृष्ठभूमि
    – सामाजिक आर्थिक जनगणना में परिवार के सदस्य का नाम नहीं होने से बड़ी तादाद में जरुरतमंद गरीब परिवारों को मुफ्त एलपीजी सिलेंडर का लाभ नहीं मिल रहा है।
    – सरकार प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत बीपीएल परिवारों को मुफ्त एलपीजी कनेक्शन मुहैया कराती है। सरकार ने तीन साल में पांच करोड़ कनेक्शन देने का लक्ष्य रखा है।
    – उज्ज्वला योजना के तहत सरकार अब तक अस्सी लाख से अधिक महिलाओं को गैस कनेक्शन मुहैया करा चुकी है। इस साल सरकार ने 1.5 करोड़ कनेक्शन का लक्ष्य रखा है।
    – प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सरकार उन बीपीएल परिवारों को मुफ्त कनेक्शन देती है, जिस परिवार के सदस्य का नाम एसईसीसी सूची में शामिल हैं।

    कृषि एवं किसान कल्यापण मंत्रालय 100 केवीके(कृषि विज्ञान केन्द्रों ) पर समेकित खेती आरंभ करेगा

  • केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि देश भर में स्थापित केवीके (कृषि विज्ञान केन्द्रों ) की किसानों की आय को बढ़ाने तथा कृषि को बढ़ावा देने में बहुत महत्वेपूर्ण भूमिका है।
  • केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने केवीके तथा राज्य स्तरीय कृषि अधिकारियों से अपील कि की उन्हें किसानों के साथ बेहद आत्मीयतापूर्ण तरीके से काम करना चाहिए। केवीके तथा राज्यीस्तरीय कृषि अधिकारियों से किसानों की आय बढ़ाने में सहयोग देने की अपील की गई। श्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि कृषि एवं किसान कल्यााण मंत्रालय बहुत जल्द 100 केवीके पर समेकित खेती आरंभ करेगा।
  • इस अवसर पर केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने किसानों से मछली पालन अपनाने की भी अपील की जिससे की उनकी आय दोगुनी हो सके। श्री राधा मोहन सिंह ने किसानों को बताया कि उनके कल्याण के लिए देश भर में 645 कृषि विज्ञान केन्द्रों का गठन किया गया है।
  • ई-डाक मतदान प्रणाली

  • भारत सरकार ने 21 अक्टूबर 2016 को अधिसूचना जारी कर चुनाव नियमावली, 1961 के नियम 23 में संशोधन करते हुए सशस्त्र बलों के कर्मियों सहित सेवा क्षेत्र में काम करने वाले मतदाताओं को ई-डाक के जरिए मतदान करने की सुविधा प्रदान की है।
  • इस प्रणाली के तहत उनको एक खाली डाक मतपत्र इलेक्ट्रॉनिक तरीके से भेजा जाएगा। इस तरीके से डाक सेवा द्वारा मतपत्र भेजने और फिर मंगाने की प्रक्रिया में लगने वाले समय में काफी बचत होगी।
  • दूर और सीमावर्ती क्षेत्रों में कार्यरत खासकर सशस्त्र बलों के कर्मियों को काफी फायदा होगा क्योंकि डाक सेवाओं द्वारा मतपत्र को दो तरह से संचरण (भेजने-लाने) की वर्तमान प्रणाली मतदाताओं की अपेक्षाओं को पूरा करने में सक्षम नहीं थी।
  • खाली डाक मतपत्र इलेक्ट्रॉनिक रूप से अर्थात् ई-डाक मतपत्र मतदाता को भेजा जा सकता है। वैसे मतदाता जो पोस्टल मतपत्र के योग्य हैं डाक मतपत्र को डाउनलोड कर मुद्रित (प्रिंट) कर सकते हैं।
  • वर्तमान के पोस्टल मतदान प्रणाली में डाक मतपत्र में अपना वोट दर्ज करने के बाद फिर डाक के जरिए ही हम उसे संबंधित निर्वाचन अधिकारी के भेज देते थे।
  • COMMENTS (2 Comments)

    aman Nov 2, 2016

    dhanyabad sir. aapka hindi medium me current series bahut upyogi hai.please ise continue rakhiega

    आलोक सिंह Oct 31, 2016

    धन्यवाद सर ।

    LEAVE A COMMENT

    Search


    Exam Name Exam Date
    IBPS PO, 2017 7,8,13,14 OCTOBER
    UPSC MAINS 28 OCTOBER(5 DAYS)
    CDS 19 june - 4 FEB 2018
    NDA 22 APRIL 2018
    UPSC PRE 2018 3 JUNE 2018
    CAPF 12 AUG 2018
    UPSC MAINS 2018 1 OCT 18(5 DAYS)


    Subscribe to Posts via Email

    Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.